जिला समन्वय समिति की बैठक में कोविड-19 वैक्सीनेशन शत-प्रतिशत करवाने का निर्देश

Banner 1

– जिले में कोरोना के 161 एक्टिव मामले , बीते 24 घंटे में संक्रमण के 16 नये मामले आये सामने,

– जिले में शत प्रतिशत टीकाकरण के लिए केंद्र की संख्या में की गई है बढ़ोतरी:

*जिलाधिकारी,डॉ आदित्य प्रकाश ने कहा अपने नजदीकी टीकाकरण स्थल पर जाकर अवश्य लें टीका*

किशनगंज ,12 अप्रैल ।
कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देख जिला समन्वय समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिला पदाधिकारी, डॉ आदित्य प्रकाश ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को कोविड-19 वैक्सीनेशन के चौथे चरण के सफल क्रियान्वयन करवाने का निर्देश दिया है| जिले के 2011 के जनगणना के 1690400 के कुल 19 % 320966 के लक्ष्य के आलोक में 43898 का टीकाकरण हो पाया है। वहीं, जिले के कुल 69292 जीविका दीदी एवं उनके परिवार के सदस्य इस टीका के योग्य हैं, जिसके लिए हर दिन 7000 हजार लाभुकों के टीकाकरण का लक्ष्य निर्धारित है।
सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को प्रत्येक पंचायत के 60 योग्य व्यक्तियों का टीकाकरण हर दिन करवाने के लिए माइक से सूचना देने की बात कही गयी है । अभियान की सफलता को लेकर जिलाधिकारी सहित अन्य वरीय स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा लगातार टीकाकरण केंद्रों का नियमित अनुश्रवण व निरीक्षण करने का निर्देश दिया गया है ।

जिलाधिकारी ने कहा अपने नजदीकी टीकाकरण स्थल पर पहुँच अवश्य लें टीका
जिलाधिकारी, डॉ आदित्य प्रकाश ने कहा सुरक्षित तरीके से 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र वाले लोगों को कोविड- 19 का टीका लगाया जा रहा है। कोविड- 19 वैक्सीनेशन के चौथे चरण के सफल क्रियान्वयन के लिए आज जिले में कुल 119 स्थानों पर टीकाकरण हो रहा है । टीकाकरण केन्द्र के निरीक्षण के दौरान वहाँ मौजूद स्वास्थ्य कर्मियों को पारदर्शिता के साथ टीकाकरण कार्य को सुचारू रूप से संचालित करने का निर्देश दिया। इसके अलावा जिलाधिकारी ने टीकाकरण स्थल की साफ-सफाई और अन्य सुविधाओं को सुव्यवस्थित ढंग से बहाल करने का आवश्यक निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने कहा कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए चिकित्सकों की पूरी निगरानी में वैक्सीन दी जा रही है । *यह सुरक्षित है और जनहित में सभी का वैक्सीन लेना भी बेहद जरूरी है। लोगों को चाहिए कि वे अपने नजदीकी टीकाकरण स्थल पर जाकर टीका अवश्य लगवाएं। सभी लोग मास्क का उपयोग अवश्य करें साथ ही दो गज की दूरी का पालन कर अपने आप को संक्रमण से बचा सकते हैं* ।

जिले में शत प्रतिशत टीकाकरण के लिए केंद्र की संख्या में की गई है बढ़ोतरी:
जिलाधिकारी, डॉ आदित्य प्रकाश ने बताया टीकाकरण के समय कोविड प्रोटोकॉल का अनुपालन कराया जा रहा है। टीकाकरण केंद्रों पर अधिक भीड़ ना हो इसको देखते हुए टीकाकरण केंद्र की संख्या बढ़ाई गई है। कोविड-19 के पॉजिटिव मरीजों को 24 घंटे चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से चिकित्सकों व कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। जिले के ट्रामा सेंटर में कुल 06 क्रियाशील वेंटिलेटर उपलब्ध हैं तथा जिले के कोविड केयर सेंटर महेश्बथ्ना में एक साथ कुल 100 शय्या बेड की व्यवस्था की गयी है | बेड के साथ , ऑक्सीजन सिलेंडर की उपलब्धता, आवश्यक औषधि एवं उपकरण की उपलब्धता, साफ सफाई की व्यवस्था, खानपान की व्यवस्था, चिकित्सक एवं पारा मेडिकल कर्मियों के रोस्टर की उपलब्धता, सीसीटीवी की उपलब्धता, आवश्यक सैनिटाइजेशन की उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है ।
जिले में कोरोना के कुल 161 एक्टिव मामले
जिले में फिलहाल कोरोना संक्रमण के 161 एक्टिव मामले है, जिसमें 08 व्यक्ति कोविड केयर सेंटर महेश्बथ्ना में इलाजरत हैं तथा शेष 153 व्यक्ति होम क्वारंटाइन हैं ।
जिला समन्वय समिति की बैठक में इस संबंध में जानकारी देते हुए सिविल सर्जन, डॉ श्रीनंदन ने बताया बीते 24 घंटे के दौरान जिले में कोरोना संक्रमण के 16 नये मामले सामने आये हैं। 06 लोग कोरोना से स्वस्थ भी हुए हैं।फिलहाल जिले में कुल 22 एक्टिव कंटेनमेंट जोन सक्रिय हैं| किशनगंज शहरी क्षेत्र में 13, बहादुरगंज में 02, किशनगंज ग्रामीण 02, पोठिया 01, कोचाधामन 01, ठाकुरगंज 02 माइक्रो कंटेनमेंट जोन सक्रिय हैं | उन्होंने बताया अब तक कुल 3.69 लाख लोगों की कोरोना जांच हो सकी है| इसमें 4603 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है तो 4426 लोग संक्रमण से जुड़ी चुनौती को मात देकर पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं| जिले में संक्रमण की दर 1.2 है तो वही रिकवरी दर 96.02 के करीब है| संक्रमण के प्रसार की संभावना बनी हुई है| लिहाजा जिला स्वास्थ्य विभाग ने सभी संबंधित स्वास्थ्य संस्थानों को अलर्ट किया है ताकि संक्रमण के प्रसार संबंधी किसी भी संभावनाओं को नकारा जा सके।गौरतलब है कि कोरोना को लेकर फिलहाल जिले की स्थिति सामान्य बनी हुई है।

कोविड-19 से बचाव के लिए इन बिंदुओं पर विशेष ध्यान:
• मास्क का प्रयोग अवश्य करें
• हाथों को बार-बार पानी और साबुन से धोएं या सैनिटाइज करें
• सहयोगियों से परस्पर दूरी बनाकर रखें
• कार्य के दौरान अति आवश्यक वस्तु को ही छुए
• सहकर्मियों से बात करें, अपने मानसिक स्वास्थ्य का ख्याल रखें।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.