पूर्णियाँ के अस्पतालों का केंद्रीय टीम ने लिया आयुष्मान भारत का जायजा ।

Banner 1

पूर्णियाँ से ब्यूरो रिपोर्ट मो0 हफ़ीज़

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अंतर्गत कार्यक्रम सफल क्रियान्वयन की स्थिति देखने निजी अस्पतालों का किया निरीक्षण ।आयुष्मान भारत के तहत गोल्डन कार्डधारकों को 5 लाख रुपये तक की मिलेगी मुफ्त इलाज की सुविधा
पूर्णियाँ : केंद्र की नेशनल हेल्थ अथॉरिटी एवं बिहार स्वास्थ्य सुरक्षा समिति की टीम ने गुरुवार को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत चलाए जा रहे आयुष्मान भारत कार्यक्रम का जायजा लिया। इस दौरान टीम द्वारा जिले में आयुष्मान भारत योजना के लिए चिह्नित निजी अस्पतालों का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण टीम द्वारा अस्पतालों के निदेशक तथा प्रबंधकों से आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों को दी जा रही सुविधाओं की जानकारी ली गयी। साथ ही क्रियान्वयन में आ रही समस्याओं के निदान सम्बंधित चर्चा की गयी। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अंतर्गत आयुष्मान भारत के तहत लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड निर्गत कराया जाता है जिसके तहत विभिन्न बीमारियों से ग्रसित मरीजों को प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक की मुफ्त इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है।
निजी अस्पतालों में उपलब्ध सुविधाओं का लिया जायजा
केंद्र एवं राज्य स्तरीय टीम ने जिले में आयुष्मान भारत योजना के लिए चिह्नित निजी अस्पताल मैक्स 7, फातमा नर्सिंग होम, विशाल हॉस्पिटल एवं किरण ऑर्थो का निरीक्षण किया। बिहार स्वास्थ्य सुरक्षा समिति के प्रभारी निदेशक हेल्थ केयर डॉ. अरशद अयूब ने निरीक्षण के दौरान कहा कि आयुष्मान भारत के तहत गोल्डन कार्ड धारक मरीजों को किसी तरह की असुविधा नहीं हो इसके लिए ही निजी अस्पतालों को चिह्नित किया गया है। ऐसे में उन सभी अस्पतालों में सभी जरूरी सुविधाओं की उपलब्धता जरूरी है। इस दौरान सभी अस्पताल निदेशक तथा प्रबंधकों को विभिन्न समस्याओं के निदान सम्बन्धी जरूरी जानकारी दी गयी । टीम ने बताया कि इन सभी समस्याओं का जल्द ही निबटारा कर लिया जाएगा। जिससे कि सभी मरीज आयुष्मान भारत अंतर्गत दी गई गोल्डन कार्ड की सुविधा का पर्याप्त लाभ उठा सकें । टीम में बिहार स्वास्थ्य सुरक्षा समिति से प्रभारी निदेशक हेल्थ केयर डॉ. अरशद, मैनेजर पंकज कुमार और नेशनल हेल्थ ऑथिरिटी से डॉ. विद्या, पीयूष भूटानी के साथ ही आयुष्मान भारत के डिविजनल कोऑर्डिनेटर वेंकटेश पांडे और डिस्ट्रिक्ट आईटी मैनेजर अजित कुमार भी उपस्थित रहे।

# जानिए क्या है प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना :
आयुष्मान भारत के क्षेत्रीय समन्वयक वेंकटेश पांडे द्वारा बताया गया कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत लाभार्थी परिवार पैनल में शामिल सरकारी या निजी अस्पतालों में प्रति वर्ष 5 लाख रुपए तक कैशलेस इलाज करा सकते हैं। योजना का लाभ उठाने के लिए उम्र की बाध्यता एवं परिवार के आकार को लेकर कोई बंदिश नहीं है। योजना को संचालित करने वाली नेशनल हेल्थ एजेंसी ने एक वेबसाइट और हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है। इसके जरिये लाभार्थी यह जान सकते हैं कि उनका नाम लिस्ट में शामिल है या नहीं। लिस्ट में नाम जांचने के लिए mera.pmjay.gov.in वेबसाइट देख सकते हैं या हेल्पलाइन नंबर 14555 पर कॉल कर जानकारी ली जा सकती है। गोल्डेन कार्ड बनवाने के लिए लाभुकों को आधार कार्ड, राशन कार्ड या पीएम लेटर से कोई एक दस्तावेज लगाना अनिवार्य है।
इन बीमारियों का करवा सकते हैं मुफ्त इलाज :आयुष्मान भारत योजना के तहत हड्डी, बर्न, नसबंदी, प्रसव, नवजात शिशु, इमरजेंसी रूम पैकेज, जानवर के काटने पर इलाज, शरीर के अंग के टूटने पर प्लास्टर, फूड प्वाइजनिंग, नवजात शिशु, जनरल सर्जरी, जनरल मेडिसिन आदि के साथ कुल 1591 तरह की बीमारियों के मुफ़्त इलाज का प्रावधान है। इसके लिए व्यक्ति को सम्बंधित जिला से होना जरूरी नहीं है। गोल्डेन कार्ड धारक देश में कहीं भी जाकर चिह्नित अस्पतालों से इस योजना का लाभ ले सकते हैं।
कोरोना माहमारी में सरकार द्वारा दिये गए दिशा निर्देश का पालन करे
# सैनिटाइजर का प्रयोग करें
# सार्वजनिक जगहों पर हमेशा फेस कवर या मास्क पहनें
# अपने हाथ को साबुन व पानी से लगातार 20 सेकेंड तक धोएं
# छींकते या खांसते वक्त मुंह को रूमाल से ढकें
याद रहे जब तक दवाई नही तब तक ढिलाई नही

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.