पूर्व डीजीपी सह कथावाचक गुप्तेश्वर पाण्डेय पहुंचे देवकुंड ,दूधेश्वरनाथ के दर्शन के बाद शहीद संतोष मिश्रा की मूर्ति पर माल्यार्पण कर दी श्रद्धांजलि

औरंगाबाद से विनय प्रसाद साहू

बिहार के पूर्व डीजीपी सह कथावाचक गुप्तेश्वर पांडेय गुरुवार की सुबह औरंगाबाद जिले के गोह प्रखंड के अति प्राचीन स्थल देवकुंड पहुंचे जहां मठाधीश कन्हैयानंद पुरी के नेतृत्व में सैकड़ों लोगों ने उनका भव्य स्वागत किया। बाबा दूधेश्वरनाथ मंदिर में दर्शन पूजन कर मठाधीश से देवकुंड एवं महर्षि च्यवन ऋषि के तपोस्थली से जुड़ी विषयों की जानकारी प्राप्त किया। तत्पश्चात् गोह में सेवा निवृत्त प्रोफेसर विरेंद्र द्विवेदी से मुलाकात कर देवहरा स्थित शहीद चौक पर शहीद संतोष मिश्रा के मूर्ति पर देवकुंड मठाधीश के साथ माल्यार्पण किया। प्रोफेसर श्री द्विवेदी के निजी आवास पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पूर्व डीजीपी ने कहा कि गोह की पावन भूमि प्रारंभ से ही पवित्र रहा है। जहां विभिन्न संप्रदायों के अनेकानेक ऋषि मुनियों ने योग, तप व साधना किया है।
उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति अपने जीवन को मानवता की सेवा में समर्पित कर दे, वही सच्चा सेवक है। वहीं देवहरा स्थित शहीद संतोष मिश्रा चौक पर माल्यार्पण कर पवित्र भूमि को नमन करते हुए कहा देश संतोष मिश्रा के शहादत को हमेशा याद रखेगा। मैं खुद इस घटना से काफी मर्माहत हुआ था। गर्व है कि बिहार के एक सपूत ने आतंकियों से लोहा लेते हुए अपनी जान गंवा दी। उनकी शहादत को बिहार हमेशा याद रखेगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता दीपक उपाध्याय व संचालन मोनू उपाध्याय ने किया। आगमन को लेकर गोह थानाध्यक्ष शमीम अहमद व देवकुंड थानाध्यक्ष सुभाष कुमार सिंह अपने दल बल के साथ तैनात रहे।
इस मौके पर गोह मुखिया प्रतिनिधि सह पैक्स अध्यक्ष मुकेश पांडेय, टिंकू उपाध्याय, बिकू त्रिपाठी, राजीव मिश्रा, चींटू पांडेय, अभिषेक पांडेय, गौतम उपाध्याय, मृणाल हर्षवर्धन, राजद नेता श्यामसुंदर, सुनील शर्मा, प्रेमचंद तिवारी, मनोज द्विवेदी, रामाशंकर द्विवेदी, ब्रजेश तिवारी, रामाज्ञा मिश्रा, बिंदा उपाध्याय, विक्रांत वैभव, रामप्रवेश मिश्रा, डॉ अमरेंद्र कुमार, डॉ दीपेंद्र द्विवेदी सहित दर्जनों लोग मौजूद रहे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.