डीलर के मनमानी के खिलाफ सड़क पर उतरे सैकड़ों ग्रामीण ने एनएच दो को किया जाम

औरंगाबाद से बड़ी खबर

औरंगाबाद से विनय प्रसाद साहू

औरंगाबाद :- गुरुवार को मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के भेड़िया गांव में डीलर के मनमानी के खिलाफ ग्रामीणों का गुस्सा फुट पड़ा और वे सड़क पर उतर कर हंगामा करने लगे । डीलर द्वारा राशन नहीं देने पर सैंकड़ो महिला व् पुरुष आक्रोशित होकर गांव के समीप राष्ट्रीय मार्ग दो को पूरी तरह जामकर घंटो बबाल किया। ग्रामीणों ने गांव के डीलर मिताली भुइयां पर 6 महीने से राशन न देने का आरोप लगाया है। ग्रामीणों का कहना है की डीलर से जब राशन की मांग की जाती है तब वह पहले तो कई बहाने बनाता है।

अधिकरियों से शिकायत करने की बात पर मारपीट करने पर उतारू हो जाता है। गांव की महिलाओं ने गुरुवार को भी डीलर पर मारपीट करने का आरोप लगाई है। इधर सड़क जाम की सुचना पाकर मुफ्फसिल थाना की पुलिस मौके पर पहुंच आक्रोशित ग्रामीणों को काफी समझने बुझाने का प्रयास करने लगी परन्तु ग्रामीण उनकी एक भी बात सुनने को तैयार नहीं हुए।

ग्रामीण मौके पर जिलाधिकारी को बुलाने की मांग कर रहे थे। इधर मुफस्सिल थानाध्यक्ष देवानंद राउत ने बताया की सरकारी खाद्दान ग्रामीणों को नहीं मिलने से वे आक्रोशित होकर नेशनल हाइवे को जाम कर हंगामा कर रहे थे। जिन्हे बाद में समझबूझा कर शांत करा कर आवागमन को चालू करा दिया गया है। इस मौके पर सिकंदर कुमार ,रावण पासवान ,उपेंद्र राम ,मिथलेश यादव कुलदीप राम , गोरेलाल समेत कई लोग मौजूद रहे।

इस मामले में जब जनवितरण प्रणाली के दूकानदार से जब बात किया गया तब दुकान के संचालक मंटू यादव ने बताया की ग्रामीणों द्वारा लगाया गया सभी आरोप गलत है। अब खाद्दान वितरण करने की सभी प्रक्रिया औनलाइन हो गयी है। डीलरों के द्वारा कहीं से किसी प्रकार की बेमानी करने की गुंजाइस नहीं है। डीलर पर गलत आरोप लगवा कर सड़क जाम करने के लिए कुछ लोगों द्वारा ग्रामीणों को बहकाया गया है। आखिर मामला क्या है यह तो जांच का विषय हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.