भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के राष्ट्रीय संयोजक भगवान प्रसाद उपाध्याय को भ्रातृ शोक

प्रयागराज –
भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के राष्ट्रीय संयोजक डॉक्टर भगवान प्रसाद उपाध्याय के छोटे भाई अश्वनी कुमार का रविवार दिनांक 5 सितंबर 2021 को अपरान्ह 1:00 बजे आकस्मिक निधन हो गया था जिनका अंतिम संस्कार सोमवार को डीहा गंगा घाट पर किया गया सैकड़ों लोगों ने नम आंखों से उनकी विदाई की और दिवंगत पत्रकार के बड़े भाई डॉक्टर भगवान उपाध्याय ने मुखाग्नि दी
दिवंगत उपाध्याय स्वयं एक वरिष्ठ पत्रकार और समाजसेवी थे जो अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गए हैं अश्विनी कुमार उपाध्याय पिछले काफी दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे रविवार को दोपहर 1:00 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली 60 वर्षीय दिवंगत पत्रकार के निधन पर क्षेत्र में शोक की लहर व्याप्त हो गई और संवेदना व्यक्त करने वालों का तांता लगा रहा अंतिम यात्रा में सैकड़ों लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की
हिंदी दैनिक पवन प्रभात के उप संपादक स्वर्गीय उपाध्याय कई वर्षों तक विभिन्न समाचार पत्रों से जुड़े रहे और उन्होंने अपनी लेखनी से समाज को सदैव सकारात्मक दिशा देने का प्रयास किया था क्षेत्र की कुछ शिक्षण संस्थाओं से भी जुड़े स्वर्गीय उपाध्याय वरिष्ठ समाजसेवी थे और जनहित के कार्यों में सदैव तत्पर रहते थे उनके निधन से समाज और पत्रकारिता के क्षेत्र में एक अपूरणीय क्षति हुई है भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ की विभिन्न जिला , मंडल और प्रदेश तथा जिला इकाइयों द्वारा शोक संवेदनाओं का क्रम देर रात तक जारी रहा और संगठन से जुड़े देश के अन्य भागों में भी पत्रकार शोकाकुल रहे भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मुनेश्वर मिश्र राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयशंकर त्रिपाठी संरक्षक डॉ हीरा मणि त्रिपाठी राष्ट्रीय मुख्य महासचिव सुधीर सिंह राठौड़ उत्तर प्रदेश इकाई के प्रांतीय अध्यक्ष मथुरा प्रसाद धुरिया प्रांतीय मुख्य महासचिव सच्चिदानंद मिश्र महासचिव मधुसूदन सिंह मध्य प्रदेश इकाई के प्रांतीय अध्यक्ष पुरुषोत्तम मिश्रा एवं मध्य प्रदेश के वरिष्ठ पत्रकार साथियों सहित प्रयागराज के विभिन्न तहसीलों के पदाधिकारियों ने अपनी शोक संवेदना व्यक्त की प्रयागराज प्रतापगढ़ कौशांबी अंबेडकर नगर अयोध्या बलिया जौनपुर आजमगढ़ चित्रकूट सोनभद्र रीवा पन्ना पटना बिहार लुधियाना पंजाब दिल्ली छत्तीसगढ़ राजस्थान आदि इकाइयों की ओर से शोक सभा का क्रम अभी भी जारी है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.