आपसी रंजिश में चली गोली,तीन को लगी गोली,एक जख्मी,आरोपित भी हुआ जख्मी

औरंगाबाद से विनय प्रसाद साहू

औरंगाबाद जिले के दाउदनगर- एन एच 139 स्थित दाउदनगर -औरंगाबाद मुख्य पथ के जिनोरिया बाजार में मंगलवार की शाम गोलीबारी की घटना में गोली लगने से तीन लोग जख्मी हो गये. जबकि गोली मारने का एक आरोपित भी पब्लिक की पिटाई से गंभीर रूप से जख्मी बताया जाता है.घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार, गोली लगने से जख्मी होने वाले युवकों में धेवही गांव निवासी बलवीर कुमार (26 वर्ष), रवि कुमार 20 वर्ष) और विश्वंभर बिगहा गांव निवासी सनोज कुमार (38 वर्ष) शामिल है .
बलवीर और रवि आपस में सहोदर भाई बताये जाते हैं. तीनों घायलों को दाउदनगर के अरविंद हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. जहां के चिकित्सकों ने बलवीर कुमार व सनोज को बेहतर इलाज के लिये बड़े चिकित्सालय में पटना रेफर कर दिया है .बताया जाता है कि बलवीर को पेट में रवि को जांघ में और सनोज को पैर में गोली लगी है. गोली मारने के आरोपित सोनी गांव निवासी डब्ल्यू यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. बताया जाता है कि घटना को अंजाम देने के बाद भागने के क्रम में ग्रामीणों द्वारा पकड़कर उसकी जमकर पिटाई की गयी, जिसमें वह गंभीर रूप से जख्मी हो गया है.

घटना की सूचना मिलने के बाद एसडीपीओ राजेश कुमार पुलिस इंस्पेक्टर विजयेंद्र कुमार, सिंह ,थानाध्यक्ष शशि कुमार राणा, दल -बल के साथ घटनास्थल पर पहुंच गये और घटना की छानबीन की. घटनास्थल से गोली का दो खोखा भी बरामद किया गया है. घटना का कारण आपसी रंजिश बताया जाता है.घायलों के बयान के बाद घटना का कारण स्पष्ट हो पायेगा और यह स्पष्ट हो पायेगा कि कितने लोगों द्वारा गोलीबारी की घटना को अंजाम दिया गया है .

थानाध्यक्ष शशि कुमार राणा ने बताया कि प्रथम दृष्टया आपसी रंजिश में यह घटना घटने की बात बतायी जा रही है. घायलों का बयान संवाद प्रेषण तक नहीं हो पाया है. एक आरोपित डब्लू कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है, जिसका इलाज पुलिस अभिरक्षा में कराया जा रहा है. बताया जाता है कि गिरफ्तार करने के बाद उसे इलाज के लिये औरंगाबाद भेजा गया ,जहां के चिकित्सकों ने बेहतर इलाज के लिये उसे जमुहार रेफर कर दिया है.

* वर्चस्व की लड़ाई में तो नहीं घटी घटना –
मंगलवार की शाम जिनोरिया बाजार में गोलीबारी की घटना से तरह-तरह की चर्चाएं सुनने को मिल रही हैं.अचानक गोलीबारी की घटना पूरा बाजार कि लोग सहम गये. देखते-देखते दुकानें बंद हो गयी और सन्नाटा छा गया. घटना के बाद कोई भी ग्रामीण जल्दी कुछ बोलने को तैयार नहीं दिखा. दबे जुबान में पता चला कि घटना के पहले मारपीट की घटना हुई.उसके बाद गोलीबारी की घटना हुई.घायलों के बयान के बाद घटना का कारण स्पष्ट हो पायेगा।

थानाध्यक्ष शशि कुमार राणा ने बताया कि घटनास्थल से दो गोली के खोखा बरामद किया गया है। जांच पड़ताल चल रही है.घटना स्पष्ट नहीं हो पा रही है. आखिर किस कारण से आपस में गोली चली कोई भी कुछ बोलने को तैयार नहीं है। जब तक लिखित आवेदन नहीं मिल पाएगा कुछ भी अस्पष्ट नहीं होगा। घटना की शुरुआत हाथापाई ,लाठी डंडा से शुरू होकर गोली चलने में तब्दील हो गई।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.