अम्बा थाना पर गंभीर आरोप , शराब माफिया और पुलिस गठजोड़ को उजागर करने वाले युवक को मिल रही धमकी

पीड़ित ने आवेदन के माध्यम से एसपी से लगाई गुहार

औरंगाबाद से विनय प्रसाद

औरंगाबाद जिले के अम्बा थाना प्रभारी जयेन्द्र भारती और थाना में पदस्थापित सहायक दरोगा पर जगदीशपुर गांव के एक व्यक्ति रंजीत कुमार जो पेशे से औरंगाबाद के अन्तर्गत उत्तर कोयल नहर प्रमंडल , अम्बा में कार्यालय परिचारी के पद पर पदस्थापित है ।उन्होंने औरंगाबाद पुलिस कप्तान कॉन्तेश मिश्रा को आवेदन देते हुए गंभीर आरोप लगाया है । आरोप औरंगाबाद में झारखंड सिमा पर अवस्थित अम्बा थाना पर है । शिकायत पत्र के माध्यम से युवक रंजीत कुमार ने औरंगाबाद शराब माफिया और पुलिस गठजोड़ को उजागर किया है । आवेदन की कॉपी और पोस्ट वायरल है ।जिसकी पुष्टि मगध एक्सप्रेस नही करता है लेकिन जो आरोप लगे है उसकी गंभीरता से जांच की भी आवश्यकता है क्योंकि उक्त आरोप औरंगाबाद पुलिस की छवि पर भी है ।

आवेदन के माध्यम से कहा गया है कि ….

महाशय , निवेदन पूर्वक कहना है कि मैं रंजीत कुगार , पिता- r40 बाबुराम सिंह ग्राम – जगदीशपुर , पो – युमरा , थाना – अम्बा , जिला – औरंगाबाद ( बिहार ) का स्थायी निवासी हैं , एवं मैं पर्तमान मे जल संसाधन विभाग , औरंगाबाद के अन्तर्गत उत्तर कोयल नहर प्रमंडल , अम्बा में कार्यालय परिचारी के पद पर पदस्थापित तथा उत्तर कोयल नहर के 186.00 आर डी 0 से 211.00 आर 0 डी 0 लगभग 00 कि 0 मी 0 तक अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर रहा हूँ । झारखंड से मेरे गाँव के रास्ते शराब माफिया शराब लेकर रात – दिन बिहार के औरंगाबाद जिले के कुटुम्बा प्रखंड के कई क्षेत्र में आते – जाते रहते है । मैं एक बिहार सरकार के कर्मचारी होने के नाते अपने मोबाईल नं0-9661421961 से ज्ञानेन्द्र भारती , थाना प्रभारी , अम्बा के सरकारी मोबाईल नं0- 9431821243 पर जब भी शराब या बालू माफिया उत्तर कोयल नहर के रास्ते गुजरते है तो मैं गोपनीय रूप से सूचना देता था । लेकिन थाना प्रभारी द्वारा मेरी गोपनीय सूचना को शराब एवं बालू माफिया को बता दिया जाता था । जिसके कारण कई बार शराब एवं बालू माफिया मेरे साथ मारपीट किये है , जिसका प्राथमिकी थाना प्रभारी अम्बा से लिखवाने गया तो डाट कर भगा दिया गया और बोला गया कि नौकरी करना है तो चुपचाप रहकर नौकरी करो नहीं तो झूठा केस में फसाकर नौकरी से दर्खास्त करवा देंगे ।
इसके पश्चात् थाना प्रभारी . अम्बा द्वारा अपने स्वजातीय जितनारायण राम ( रविदास ) शराब माफिया द्वारा अम्बा थाना कांड सं0-98 / 21 दिनांक 23.07.2021 द्वारा मुझपर ए 0 सी 0 / एस 0 टी 0 एक्ट के तहत् झुठा प्राथमिकी दर्ज करवाया गया । जिसके मैं दिनांक 17.08.2021 को अपनी पत्नी ( मंजु देवी ) से पुलिस अधीक्षक , औरंगाबाद को आवेदन देकर सत्यता की जाँच करवाने का मांग किया । अम्बा थाना प्रभारी के क्षेत्र में थाना प्रभारी के संरक्षण में डुमरा पंचायत , तेलहरा पंचायत एवं बलिया पंचायत में शराब एवं बालू माफिया काफी सक्रिय है । थाना प्रभारी एवं उनके गुगों के डर से कोई भी पत्रकार इन सभी चीजो को उजागर नहीं करता है । जिसके चलते सरकार एवं वरीय पदाधिकारी को अम्बा थाना प्रभारी के करतूतों की जानकारी नहीं मिल पाती है । दिनांक 29.08.2021 को करीब दोपहर के 1.00 बजे ग्राम – सोनबरसा , पो 0 – बलिया , थाना – अम्या , जिला – औरंगाबाद के निवासी ( 1 ) गौतम कुमार तिवारी ( 2 ) चन्दन कुमार तिवारी ( 5 ) समरेश कुमार तिवारी ( 4 ) गोपाल तिवारी ( 5 ) नेपाल तिवारी दो ट्रेक्टर में अवैध बालू और बालू के अन्दर शराब छिपाकर ले जा रहे थे तथा गौतम कुमार तिवारी एवं चन्दन कुमार तिवारी पल्सर मोटरसाईकिल से शराब लेकर उत्तर कोयल नहर के रास्ते देव तरफ जा रहे थे ।

किसी प्रकार इसकी सूचना थाना प्रभारी अम्बा को मिली । उनके साथ सहायक दरोगा अनन्त कुमार पुलिस दल – बल के साथ पहुंचे और दोनो ट्रेक्टर बालू , शराब , पल्सर मोटरसाईकिल तथा सभी शराब एवं बालू माफिया को गिरफ्फतार कर लिये । इस घटना की मैं वहाँ चुपके से विडियो बना रहा था । अभी थोड़ा ही विडियों बनाया था तभी थाना प्रभारी को भनक लगा कि मैं इसका विडियो बना रहा हूँ । इसके बाद उनलोगो मुझे खदेड़कर पकड़ने की कोशिश किये ताकि मोबाईल छिन लिया जाय । गाड़ी Page 2 of 2 और सभी गिरफतार माफिया को और शराब को अम्बा थाना की ओर जाने के क्रम में छोड़ दिया गया । जब इसकी भनक थाना प्रभारी को लगा कि मै विडियों बना लिया हूँ तो गौतम कुमार तिवारी से थाना प्रभारी , अम्बा द्वारा अम्बा थाना कांड सं0- 128/21 दिनांक 31.08.2021 मेरे उपर बिना कोई लड़ाई – झगड़ा एवं गारपीट किये आवेदक गोतम गुगार तिवारी के बिना कोई मामूली या गंभीर चोट लगे बिना गंभीर धाराओ में पुलिस द्वारा एकपक्षीय कार्रवाई करते हुए मुकदमा दर्ज कर लिया गया । दिनांक 02.09.2021 को सुबह 9.00 बजे अम्बा थाना प्रभारी ज्ञानेन्द्र भारती और सहायक दरोग अनन्त कुमार मेरे पर आये और मेरी पत्नी को धमकाने लगे कि विडियों डिलीट करवा दो नही तो शराब माफिया से से पुरे परिवार को मरवा दूंगा ।

जब मैं थाना प्रभारी , अम्बा को कहा कि सोनबरसा गाँव के शराब माफियाओ को गिरफ्तार नहीं करेंगे तो विडियो वायरल कर देंगे । इसके उपरान्त थाना प्रभारी , अग्बा द्वारा ग्राग – सोनबरसा के रागरेश तिवारी को पिस्टल के साथ गिरफ्तार किया लेकिन केस सिर्फ शराब पिने का ही बनाया गया बाकि तथ्यों छिपा दिया गया और समरेश तिवारी को जेल भेज दिया गया । इसके पश्चात मैं मजबूर होकर विडियो को अपने फेसबुक आई 0 डी 0 से अपलोड कर दिया । इसके बाद दिनांक 05.09.2021 के दोपहर 12.00 बजे ग्राम – सोनवरसा . पो 0 – बलिया , थाना – अम्बा , जिला – औरंगाबाद के ( 1 ) गौतम | कुमार तिवारी ( 2 ) ( 2 ) चन्दन कुमार तिवारी ( 3 ) गोपाल तिवारी ( 4 ) नेपाल तिवारी और अन्य चार – पाँच व्यक्ति जो ग्राम – सोनबरसा के ही थे तथा मेरे ग्राम – जगदीशपुर के जितनारायण राम . बैजनाथ ठाकुर , परमेन्द्र सिंह , विद्याभूषण सिंह तथा ग्राम – शाहपुर के शत्रुधन यादव मेरे द्वार पर आर्य और विडियो डिलीट करने को धमकी देने लगी बोले कि विडियो डिलीट नहीं किये तो तो तुनको पुरे परिवार सहित हत्या कर दी जायेगी ।
इनलोगो द्वारा मुझे और मेरे पूरे परिवार को थाना प्रमारी , अम्बा के इशारे पर कमी भी हत्या करवायी जा सकती है । इन लोगों के द्वारा पहले भी तेलहारा पंचायत के तेलहारा में शादी समारोह में पुलिस के सामने एक लड़के को पिट – पिटकर हत्या कर दी गयी थी लेकिन पुलिस द्वारा इनलोग के नाम को छिपा दिया गया जिसके कारण उनलोगो का मनोबल काफी बढ़ा हुआ है । जब ग्रामीण अम्बा चौक जाम किये तो तब जाकर पुलिस खानापुर्ति करते हुए कुछ कार्रवाई की । अम्बा थाना प्रभारी के संरक्षण में इनलोग शराब एवं बालू का अवैध कारोबार दबंगई से कर रहे है जबकि परमेन्द्र कुमार सिंह रेलवे में ग्रुप – बी के पद पर सलैंया स्टेशन पर पदस्थापित है ।

अतः श्रीमान से निवेदन है कि अग्या थाना प्रभारी द्वारा कांड सं0-98 / 21 दिनांक 23.07.2021 एवं 128/21 दिनांक 31.08.2021 को श्रीमान् अपने स्तर से तत्काल गिरफ्तारी पर रोक लगाते हुए सत्यता की जाँच कर मुझे दोषमुक्त करने की कृया की जाय साथ ही साथ ज्ञानेन्द भारती , थाना प्रभारी , अम्बा एवं सहायक दरोगा अनन्त कुमार समेत उपरोक्त वर्णित शराब एवं बालू माफियाओं पर कठोर कार्रवाई की जाय ताकि मेरा भयमुक्त रह सके एवं मैं सर कार्यों का सम्पादन ससमय तनाव मुक्त होकर कर सकें ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.